सिर्फ यीशु

सिर्फ यीशु

मसीह ने स्वतंत्रता के लिये हमें स्वतंत्र [हमें पूरी तरह से आज़ाद] किया है; अत: इसी में स्थिर रहो, और दासत्व के जूए में [जिसे तुमने उतार फेंका था] फिर से न जुतो। —गलातियों 5:1

यीशु इस जगत में आया और हमारी सजा अपने ऊपर लेकर उसने हमारे पापों के लिए भुगतान किया। वह हमारा विकल्प बन गया, उसने बिना किसी कीमत के हमारे कर्ज का भुगतान किया। उसने उसके महान प्रेम, अनुग्रह और दया के कारण यह सब मुफ्त में किया।

यीशु को वह सब कुछ विरासत में मिला है जो पिता उसे देना चाहता था और वह हमें बताता है कि हम हमारे विश्वास के सदाचार पर उसके साथ संयुक्त वारिस हैं। उसने यहां और स्वर्ग, दोनों जगह हमारे पूर्ण विजय का मार्ग प्रशस्त किया है। उसने जीत लिया है, और हमें कीमत चुकाए बिना इनाम मिलता है। हम जयवन्त से भी बढ़कर हैं।

यह कितना आसान हो सकता है? सुसमाचार आश्चर्यजनक रूप से सरल है।

जटिलता शैतान का कार्य है। वह सरलता से नफरत करता है क्योंकि वह उस सामर्थ्य और आनंद को जानता है जो हमारा विश्वास निर्माण करता है। जब भी परमेश्वर के साथ आपका रिश्ता जटिल हो जाता है, तब एक छोटे बच्चे की तरह विश्वास करने की सरलता पर लौट आएं। यीशु ने कहा, “केवल विश्वास कर” और तू परमेश्वर की महिमा को देखेगी (यूहन्ना 11:40)।

सिर्फ यीशु में आपके विश्वास की सरलता पर लौटें और उसका जश्न मनाएं।

विश्वास न करने की तुलना में विश्वास करना बहुत सरल है।

Facebook icon Twitter icon Instagram icon Pinterest icon Google+ icon YouTube icon LinkedIn icon Contact icon